28 May 2017

ओठोंपे आती है अब बस तेरीही बात

ओठोंपे आती है,
अब बस तेरीही बात 
तेरे बिना में जाना,
कैसे ये कांटू रात 

दिन ये यु ढलता है, 
और सूरज जलता है 

Image from: https://pixabay.com/en/girl-upset-sad-depressed-hipster-863686
पर दिल तो मांगे है,
चाँदनी तेरा साथ 

ओठोंपे आती है,
अब बस तेरीही बात 
तेरे बिना में जाना,
कैसे ये कांटू रात 

जग ने जब ठुकराया, 
तूने थामा था हाथ 
तू भी तो छोड़ गयी अब,
क्यूँ दो पल देके साथ? 

ओठोंपे आती है,
अब बस तेरीही बात 
तेरे बिना में जाना,
कैसे ये कांटू रात


No comments:

Post a Comment

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...